कंगना के बयान पर वीमेन कमिशन ने दिया ये जवाब, बहन रंगोली को करना पड़ा बचाव

कंगना रनौत के बयान पर वीमेन कमीशन ने दिया ये जवाब

By   |     |   2,865 reads   |   0 comments
कंगना रनौत के बयान पर वीमेन कमीशन ने दिया ये जवाब

कंगना रनौत के बयान पर वीमेन कमीशन ने दिया ये जवाब

कंगना रनौत ने एक प्रमुख टीवी समाचार चैनल के लिए हालिया साक्षात्कार में उनके जीवन के बारे में बहुत कुछ बताया। हृतिक रोशन से आदित्य पांचोली तक, उसने अपने जीवन में हुए सभी विवादों के बारे में बात की।

एक अनुक्रम के दौरान, कंगना ने महिला आयोग के बारे में बताया और कैसे वो हृतिक रोशन वाले मामले में उनके प्रति अनुचित रहे| उन्होंने कहा, “विशाल भारद्वाज ने मुझे महिला आयोग से मदद लेने के लिए सुझाव दिया, क्योंकि रितिक ने मुझे एक नोटिस भेजा, जिससे मेरी व्यक्तिगत तस्वीरों और वीडियो को वायरल बना दिया जा सके। पहले, उन्होंने मेरा मामला उठाया लेकिन कुछ दिनों बाद उन्होंने मुझे बुलाया, ‘मेरे राकेश जी के साथ अच्छे रिश्ते हैं, आपको बहुत कुछ नहीं बोलना चाहिए। आपको इसे आसानी से लेना चाहिए।’ मैं चौंक गयी और तब से मैं महिला आयोग से नफरत करती हूँ । कल्पना कीजिए कि मेरे जैसे बॉलीवुड स्टार के लिए कोई अनुचित कर सकता है तो अन्य आम महिलाएं क्या करती होंगी? महिला आयोग नकली है, और इसे खरीदा गया है। ”

यह उनके साथ अच्छा नहीं था और  महाराष्ट्र स्टेट कमेटी फॉर वुमेन की अधिकारी विजया राहतकर ने कंगना के बयान पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए ये बात ट्विटर पर कही|
उन्होंने ट्विट किया, “सुश्री कंगना राणावत की महिला आयोग के खिलाफ गैरजिम्मेदाराना आरोप से गंभीर दुःख हुआ|”

विजया ने यह भी कहा, “न सुश्री .कंगना रनौत ने कभी महिला आयोग से संपर्क किया और ना ही गुरमीत चड्ढा एमएससीडब्ल्यू के साथ किसी भी तरह से जुड़े है।”

उन्होंने कहा, “एमएससीडब्ल्यू संकट में महिलाओं के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। दुर्भाग्यपूर्ण है कि श्रीमती रनौत ने हमें गलत तरीके से प्रस्तुत करना चुना|”

कंगना की बहन रंगोली चंडेल ने महिला आयोग द्वारा इन टिप्पणियों का जवाब दिया और ट्वीट किया, “प्रिय मैम अप एक साल देरी से हैं, गुरमीत महिला कांग्रेस की V.P हैं| उन्होंने कहा था कि वो महिला कमीशन से भी जुडी हुई थी|

उन्होंने आगे कहा, “विजाय राहताकर श्री राकेश रोशन के साथ उनकी मुलाकात के बाद उसने मुझसे कहा कि महिला आयोग हमारी मदद नहीं कर सकता है।”

रंगोली ने यह भी कहा, “हम इस स्थिति में हम क्या सोच सकते हैं जब शहर में महिलाओं के उद्धारक के रूप मेंन गुरमीत चड्ढा का नाम लगा हुआ है|

इस पूरे मामले पर आप क्या कहना चाहेंगे? नीचे कमेंट्स में बताइए|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.