OMG : कपिल शर्मा और सुनील ग्रोवर के बाद अब टूट की कगार पर कृष्णा अभिषेक और सुदेश लहरी की जोड़ी 

कृष्णा-सुदेश की जोड़ी को लग गयी ये किसकी नज़र?

By   |     |   2,766 reads   |   0 comments
कृष्णा-सुदेश की जोड़ी को लग गयी ये किसकी नज़र?

कृष्णा-सुदेश की जोड़ी को लग गयी ये किसकी नज़र?

ईगो एक ऐसी चीज है जिसकी वजह से बड़े से बड़े रिश्ते ख़राब हो सकते हैं ऐसा ही कुछ होता हुआ नज़र आया कपिल और सुनील के साथ| कभी साथ काम करके लाखों लोगों का दिल जीत लेने वाले ये कॉमेडियन्स आज एक दुसरे से अलग हो चुके हैं| लेकिन ये अकेले ही ऐसी जोड़ी नहीं है बल्कि कपिल और सुनील के बाद अब सुदेश लहरी और कृष्णा अभिषेक की जोड़ी भी टूटने के कगार पर पहुंची हुई नज़र आ रही  हैं|

कई सालों से एक जोड़े के रूप में काम कर चुके कृष्णा अभिषेक और सुदेश लहरी के बीच आपसी मतभेद की खबरें बाहर आ रही हैं| जिसकी वजह ये बताई जा रही है

कि कपिल के सहयोगियों के साथ हाँथ मिलाने के बाद कृष्णा का व्यवहार सुदेश के लिए बदल गया है|
खैर, इससे पहले ड्रामा कंपनी के लांच के दौरान जब हमने सुदेश से कृष्णा और उनकी जोड़ी के बारे में बात की तो उनका कहना था-
“हमारी जोड़ी मैंने तो बनायीं नहीं है| लोगों ने हमें पसंद किया है| बड़ी-बड़ी जोड़ियाँ आई और टूट गयी| लोगों ने हमारी जोड़ी  को पसंद किया| वो डांसिंग में था और मैं सिंगिंग में हमारी जोड़ी का सुर ताल लग गया|हमने कॉमेडी में एकदूसरे के साथ बहुत कुछ सिखा|”

इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने यह भी बताया कि उनके और कृष्णा के बीच सबकुछ बराबर का हिसाब है-

“हम जहाँ भी जाते हैं एक जैसा ही होता है हमारा, पैसे का लगा लो, ट्रीटमेंट का लगा लो हम जहाँ जोड़े में जाते हैं तो एक जैसा ही हमारा ट्रीट होता है| मेरी और कृष्णा की सेटिंग है की हम जो भी काम करेंगे हमारा सबकुछ बराबर का होगा| कल को अगर वो सुपरस्टार भी बन गया और मैं आऊंगा तो भी मैं उतना ही पैसा लूँगा जितना की वो लेगा| हमारी जोड़ी में ये सदा रहेगा|”

शो का मुख्य किरदार कौन होगा? इसपर सुदेश ने कहा था-

“ये ड्रामा है, कभी वो हीरो है तो हम नौकर हैं, कभी वो राजा है, इसमें कोई मेन नहीं है, ये शो किसी एक का नहीं है| इस शो में जो भी स्पेशल हैं वो मिथुन दा हैं|”

अपने और कृष्णा के बीच मतभेद पर बोले थे सुदेश-

कई बार मेरे और कृष्णा के बीच में किसी बात को लेकर लड़ाइयाँ हो जाती हैं किसी बात को लेकर लेकिन वो बातें पेपर में नहीं आती( मजाक में)| ये बातें किसी के सामने नहीं होती, कमरे में बैठ के होती हैं|”

इस पूरे मामले पर आप क्या कहना चाहेंगे? नीचे कमेंट्स में बताइए|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.